रामेश्वरम! दक्षिण भारत का प्रमुख तीर्थ स्थल

दक्षिण भारत का प्रमुख तीर्थ स्थल है, रामेश्वरम!

हिंदू धर्म के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक रामेश्वरम, अनोखे भूभाग में से एक है! भारतीय इतिहास में रामेश्वरम की गाथा श्री राम के साथ जोड़कर देखी जाती है!

ऐसा माना जाता है कि श्री राम जब लंका पर चढ़ाई करने जा रहे थे तब उन्होंने रामेश्वरम का मार्ग पकड़कर ही लंका को प्राप्त किया था! नल और नील ने रामेश्वरम से श्रीलंका के बीच समुद्र में एक रामसेतु का निर्माण किया!

ram setu manufaure Rameshwaram
ram setu manufaure Rameshwaram

और सोचने में ही असंभव लगने वाली इस कार्य को उस समय में किया गया था जिस समय आधुनिक संसाधनों की पर्याप्त कमी थी!

आज के समय में रामेश्वरम सिर्फ बल्कि उस इतिहास का एक जीता जागता सबूत भी है क्योंकि सेटेलाइट के द्वारा यह पाया गया है एक सेतु श्रीलंका के बीच स्थित है

रामेश्वरम में आने के बाद आज भी कोई व्यक्ति पूरी मनोकामना के साथ सारे पापों को छोड़ता है और पूरी श्रद्धा के साथ भविष्य के लिए अपने को तैयार करता है उसके सफल होने की संभावना निश्चित होती है

  • पुरानी मान्यताओं के अनुसार जब श्रीराम श्री लंका पर चढ़ाई करने जा रहे थे तब उन्होंने भगवान शिव की आराधना की तथा उनका एक मंदिर यहां पर स्थापित किया जो आज भी है
  • मंदिर आज भी पूरी मान्यता के साथ खड़ा हुआ है और यहां पर आने वाले लोगों के लिए एक प्रमुख स्थल के रूप में विराजमान है

ऐसी और एक धारणा है कि शिव जी यहां पर स्वयं प्रकट हुए और श्रीराम को आशीर्वाद दिया कि तुम स्वयं इस पूरे भूभाग पर अकेले छत्रपति राज कर सकते होI  श्रीराम  श्री लंका जाने का अपना वचन और अपना इरादा अटल रखा पर विजय प्राप्त कीI

शिवजी यह देखना चाहते थे कि श्रीराम जिस काम को करने जा रहे हैं उसके लिए वह पूरी तरह से तत्पर है या नहींI

रामेश्वरम के पत्थरों की एक खास विशेषता यह है यहां के पत्थर और आधी हवा में रहते हैं और आधे पानी के अंदर! जिसकी वजह से नल और नील नहीं एक इतने बड़े सेतु का निर्माण कर डालाI

रामेश्वरम एक शानदार और एक अनोखी जगह होने का सबूत देती है!

satelite picture of Rameshwaram ram setu
satelite picture of Rameshwaram ram setu

राष्ट्रपति अब्दुल कलाम भी रामाश्रम की ही निवासी रहे हैं! रामेश्वरम के बारे में अब्दुल कलाम का कहना है कि यह एक अत्यंत पावन जगह है यहां पर जन्म लेने के बाद जन्म जन्मांतर तक किसी और जगह की सुध नहीं रहतीI

यहां के लोग और यहां की संस्कार, आपको पूरे विश्व में अकेले खड़ा होने का माद्दा देती है,

राष्ट्रपति अब्दुल कलाम “कभी ऐसा नहीं लगा कि वह किसी भी प्रकार के भय या किसी भी प्रकार के अति आत्मविश्वास का शिकार हुए होI”

यह रामेश्वरम का ही प्रभाव था कि राष्ट्रपति अब्दुल कलाम, भारत के राष्ट्रपति बनने में सफल हुए!

Railways of Rameshwaram
Railways of Rameshwaram

अब दिल्ली से रामेश्वरम के रास्ते हैं यहां तक पहुंचना चाहते हैं आपको दिल्ली से मदुरई के लिए फ्लाइट पकड़नी होगी, 2 घंटे की होगी यह यात्रा!

मदुरई  से रामेश्वरम जाने के लिए कई परिवहन और बसें चलती हैं जिनकी मदद से आप रामेश्वरम तक पढ़ी ही आसानी से तकरीबन 6 घंटे के अंदर पहुंच सकते हैं

अत्यंत शीघ्र मदुरई से रामेश्वरम की यात्रा का आनंद उठाने का कष्ट करें बहुत बहुत धन्यवाद

किसी अन्य प्रकार की सहायता के लिए हमारे कमेंट बॉक्स में लिख कर पूछने का कष्ट करें, कल भी आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करेंगे I

TravelBrandIndia.Com

Travel brand India is a website for Indian or Hindustani or tourist lovers who want to know more about Indian culture, sports, music, visiting places, food etc for India.

One thought on “रामेश्वरम! दक्षिण भारत का प्रमुख तीर्थ स्थल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.